विकास के नाम पर भाजपा सरकार काटने जा रही है मुंबई का आधा जंगल

Posted on 03 Jun 2017 by Admin     
विकास के नाम पर भाजपा सरकार काटने जा रही है मुंबई का आधा जंगल

जहाँ एक तरफ महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री देवेन्द्र फडनविस खुलेआम वादा कर रहें हैं के आरे के जंगलो को कुछ नहीं होगा, वहीँ देश के प्रधान मंत्री मोदीजी ने आज दुनिया से कहा के विकास में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।


मेट्रो मुम्बई में आएगी और उसके लिए हज़ारो पेड़ काटे जायेंगे। इस प्रोजेक्ट के लिए लगभग आरे जंगल से 1 लाख पेड़ काटेंगे, लेकिन कुछ जागरूक नागरिको और national green tribunal के कारण यह कर पाना इतना भी आसान नहीं।


मुम्बई की भाग दौड़ के बीच ये आंदोलन पिछले 2.5 सालो से चल रहा है। इन लोगो ने विकास के नाम प्रकृति को नुक्सान पहुचाने वाली कई गतिविधियों को रोक है, और यह कोई छोटी बात नहीं। ये नागरिक अपनी सिमित सुविधा और समर्थन के साथ यह लड़ाई लड़ रहे हैं, वो लड़ाई जो आदिवासियों के लिए, जानवरो और जंगलो के लिए, और हम सबके बेहतर भविष्य के लिए है। लेकिन सिर्फ 10000 लोगो का यह आंदोलन कब तक मज़बूती बनाये रखेगा?


आज, याने के 3 जून 2017 को, हम सब साथ आ रहे हैं, प्रार्थना करने के लिए और सिद्दिविनायक, हाजी अली, गिरजाघर और गुरुद्वारों के आशीर्वाद से नणय पौधे लगाने।

हर इंसान अपने बचपन से पेड़ पौधों की महत्वपूर्णता के किस्से सुन कर बड़ा होता है, लेकिन बड़े होते होते, विकास और हमारा स्वार्थ इन किस्सों को कही ढंक देता है। अब ज़रूरत है के हम सब वापस अपनी अपनी संस्कृति की तरफ देखे और उन किस्सों को।फिर से याद करे।


आज, याने के 3 जून 2017 को, मुम्बई के कोने कोने से लोग तपेश्वर महादेव मंदिर, आरे मिल्क कॉलोनी, गोरेगांव में इख्ठा होंगे। अरदास, नमाज़, रूद्र अभिषेक, दुर्गा हवन के साथ ये आंदोलन पूरी दोपहरी और शाम को चलेगा। जंगलो के संरक्ष्ण और मुम्बई के आखिरी बचे ग्रीन कवर को बचाये रखने के लिए हम सब साथ आ रहे हैं।

क्या आप वहां होंगे??



Like us on Facebook


<<Back