राजगीर में इमरान प्रतापगढ़ी को सुनकर अभिभूत हुए RJD सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव।

Posted on 04 May 2017 by Admin     
राजगीर में इमरान प्रतापगढ़ी को सुनकर अभिभूत हुए RJD सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव।

बिहार के राजगीर में राजद के प्रशिक्षण शिविर की ये तस्वीरें अपने आप में ऐतिहासिक और यादगार है। देश में संप्रदायिक ताकतों के खिलाफ़ सबसे मुख़र होकर खड़े रहने वाले लालू प्रसाद यादव और अपने मंचों से संप्रदायिकता को जमकर लताड़ने वाले यूवा शायर इमरान प्रतापगढ़ी जब मंच पर एक साथ नज़र आए तो दर्शक दीर्घा में बैठे राजद के कार्यकर्ताओं एवँ पदाधिकारियों का उत्साह दोगुना हो गया था. मुशायरों से हटकर इमरान यहाँ एक नई भूमिका में थे। उन्हें यहाँ एक वक्ता के रूप में आमंत्रित किया गया था जहाँ उन्हें "साम्प्रदायिकता व समानता विरोधी संघर्ष में संस्कृति की भूमिका" विषय पर व्याख्यान देना था।

और जब सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ़ मुखर होकर बोलने की बात हो तो इमरान से बेहतर कोई दूसरा विकल्प हो भी नहीं सकता था। इमरान ने अपनी इस नई जिम्मेदारी का ना केवल बेहतर तरीके से निर्वहन किया बल्कि अपने व्याख्यान से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। वो जब माइक पर बोल रहे थे तब लालू यादव से लेकर तेजस्वी यादव तक मंच पर उपस्थित सारे लोग एकटक इमरान को देख रहे थे। शायद वो सारे लोग अचंभित थे कि आज के इस मुश्किल दौर में भी पूरी बेबाकी के साथ संप्रदायिकता के खिलाफ़ मुख़र रहने वाले लोग पूरी निडरता और हिम्मत के साथ अपने काम को अंजाम दे रहे हैं।

कार्यक्रम के दौरान लालू जी का इमरान के प्रति स्नेह देख कर पूरा हाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूँज उठा। लालू जी ने इमरान की इस बेबाकी से अभिभूत होकर उन्हें गले से लगा लिया था। वह इमरान के दमदार परफार्मेंस से काफी खुश नजर आ रहे थे शायद उन्हें इमरान में उनकी ही तरह का एक प्रखर वक्ता नज़र आ गया था जो पूरी हिम्मत के साथ किसी भी सूरत में सच बोलने का साहस रख़ता है। कार्यक्रम में बिहार के उप मुख्यमंत्री और राजद के यूवा नेता तेजस्वी यादव ने पूरी गर्मजोशी से इमरान की अगवानी की। इमरान जब तक कार्यक्रम में मौजूद थे वो उनके साथ ही नज़र आए।

By: Islahuddin Ansari



Like us on Facebook